मुख्य समाचार:

Railway Budget 2020 In Hindi/Budget 2020: तेजस एक्सप्रेस और प्राइवेट ट्रेनों की बढ़ेगी संख्या, PPP मॉडल पर रहेगा फोकस

Railway Budget 2020 In Hindi/Budget 2020: इस बार भी बजट से रेलवे को बड़ी उम्मीदें हैं.

February 1, 2020 4:39 PM
Railway Budget 2020 In Hindi, railway budget, Budget 2020, बजट से रेलवे को उम्मीदें, railway income, rail infra, railway income, रेल बजट 2020, रेलवे बजट 2020, आम बजट 2020, bullet train, tejas train, vande bharat train, railways operating rationRailway Budget 2020: इस बार भी बजट से रेलवे को बड़ी उम्मीदें हैं.

Railway Budget 2020 In Hindi/Budget 2020: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में रेलवे के लिए खास एलान किया है. देश में आने वाले दिनों में तेजस एक्सप्रेस की संख्या बढ़ाई जाएगी. इन्हें टूरिस्ट प्लेस से जोड़ा जाएगा. तेजस एक्सप्रेस के बेहतर रिस्पासं को देखते हुए सरकार ने यह कदम उठाया है. वहीं, आने वाले दिनों में सरकार का रेलवे के लिए पीपीपी मॉडल पर फोकस बढ़ेगा. पीपीपी मोड पर 1000 के करीब ट्रेनें चलाई जाएंगी. वहीं, देश में 4 रेलवे स्टेशनों का डेवलपमेंट भी प्राइवेट प्लेयर्स की मदद से किया जाएगा. बता दें कि सरकार ने पिछले दिनों ही रेलवे में प्राइवेट प्लेयर्स की भागीदारी बढ़ाए जाने के संकेत दिए थे.

रेलवे स्टेशनों पर wi-fi

वित्त मंत्री ने जानकारी दी कि करीब 1150 ट्रेनों को पीपीपी मोड में चलाया जाना है. पीपीपी मोड पर ही सूखाग्रस्त इलाकों में किसानों की परेशानी को देखते हुए रेल किसान चलाए जाने का एलान किया गया है. इसके लिए 100 इलाकों की पहचान की गई है. वहीं, देश के करीब 550 स्टेशनों पर wi-fi की सुविधा मिल रही है. लॉर्ज सोलर पावर कैपेसिटी रेल ट्रैक पर लगाने की भी योजना विचाराधीन है. बता दें कि सरकार का फोकस आने वाले दिनों पर इंफ्रा सेक्टर पर 100 लाख करोड़ से ज्यादा खर्च करने की है. सरकार का 11 हजार रेवले ट्रैक के इलेक्ट्रिफिकेशन की योजना है.

वित्तमंत्री ने बजट में फल-सब्जियों जैसे जल्द खराब होने वाले कृषि उत्पादों की ढुलाई के लिये विशेष रेलगाड़ी चलाने की भी घोषणा की. इन ट्रेनों में रेफ्रिजरेटर लगे होंगे, जो इन उत्पादों की लंबी दूरी तक ढुलाई सुनिश्चित करेंगे. किसान रेल गाड़ियां भी पीपीपी मॉडल के तहत चलायी जाएंगी. वित्त वर्ष 2020-21 के आम बजट में परिवहन क्षेत्र की बुनियादी संरचना के लिये 1.7 लाख करोड़ रुपये के आवंटन का प्रस्ताव किया गया. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को लोकसभा में बजट पेश करते हुए कहा कि उड़ान योजना को समर्थन देने के लिए 2025 तक 100 और हवाई अड्डे विकसित किए जाएंगे.

जब आम बजट में मर्ज हुआ रेल बजट

वित्त वर्ष 2016-17 तक आम बजट के अलावा रेलवे बजट भी पेश किया जाता था. लेकिन वित्त वर्ष 2017-18 से इसे आम बजट के साथ मर्ज कर दिया गया. हालांकि आम बजट में भी रेल बजट की बड़ी हिस्सेदारी होती है. पिछले कुछ साल की बात करें तो रेलवे को लेकर सरकार का फोकस आधुनिकीकरण के अलावा इंफ्रा और सेफ्टी पर रहा है. इस बार भी बजट से रेलवे को बड़ी उम्मीदें थीं. ऑपरेटिंग रेश्यो 10 साल के निचले स्तर पर है. माना जा रहा था कि वित्त मंत्री रेलवे को और आधुनिक बनाने और यात्रियों की सुरक्षा को लेकर कुछ एलान कर सकती हैं. वहीं, यह भी नजर थी कि सरकार रेलवे की कमाई बढ़ाने के लिए क्या उपाय करती है. क्योंकि रेलवे का आपरेटिंग रेश्यो 10 साल में सबसे कम रहा है.

 

ऑपरेटिंग रेश्यो 10 साल में सबसे खराब

भारतीय रेल का ऑपरेटिंग रेश्यो (OR) वित्त वर्ष 2017-18 में 98.44 फीसदी दर्ज किया गया जो पिछले 10 साल में सबसे खराब है. दिसंबर 2019 में नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) की रिपोर्ट से बात सामने आई. रेलवे में इस ऑपरेटिंग रेश्यो का मतलब यह है कि रेलवे ने 100 रुपये कमाने के लिये 98.44 रुपये खर्च किए. इस रेश्यो से यह भी देखा जाता है कि रेलवे की फाइनें​शियल स्थिति कैसी है. फिलहाल रेलवे के ऑपरेटिंग रेश्यो का डाटा निराश करने वाला रहा है.

 

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. बजट 2020
  3. Railway Budget 2020 In Hindi/Budget 2020: तेजस एक्सप्रेस और प्राइवेट ट्रेनों की बढ़ेगी संख्या, PPP मॉडल पर रहेगा फोकस

Go to Top