मुख्य समाचार:

सऊदी अरामको की तरह होगी LIC की लिस्टिंग! बाजार में तहलका मचा सका सकता है IPO

LIC के IPO पर विशेषज्ञ कह रहे हैं कि बाजार के लिए इसे संभालना मुश्किल हो जाएगा. यह दशक का सबसे बड़ा आईपीओ साबित हो सकता है. जिसकी मार्केट वैल्यू 10 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच सकती है.

February 2, 2020 11:00 AM
LIC will be IPO of the decade like Saudi Aramco blockbuster listing experts says LIC will be IPO of the decade Budget 2020 proposalLIC के IPO पर विशेषज्ञ कह रहे हैं कि बाजार के लिए इसे संभालना मुश्किल हो जाएगा. यह दशक का सबसे बड़ा आईपीओ साबित हो सकता है.

LIC IPO: बाजार के नजरिए से बजट 2020 का सबसे बड़ा एलान लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (LIC) का आईपीओ लाना है. इसके लिए सरकार एलआईसी का इनिशल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) लाएगी और निगम में अपनी हिस्सेदारी बेचेगी. एलआईसी के आईपीओ पर विशेषज्ञ यहां तक कह रहे हैं कि बाजार के लिए इसे संभालना मुश्किल हो जाएगा. उनके मुताबिक एलआईसी का आईपीओ दशक का सबसे बड़ा आईपीओ साबित हो सकता है और उसके बाद मार्केट कैप के आधार पर एलआईसी देश की सबसे बड़ी कंपनी तक बन सकती है, जिसकी मार्केट वैल्यू 10 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच सकती है. बता दें, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को आम बजट 2020-21 पेश करते हुए एलआईसी के विनिवेश की घोषणा की.

अभी भी देश की सबसे बड़ी कंपनी

पीटीआई को आईसीआईसीआई डायरेक्ट में एनॉलिस्ट काजल गांधी ने कहा कि सरकार की कंपनी होने के कारण एक निजी कंपनी के नजरिए से इसका मूल्यांकन कम जरूर हो सकता है पर ‘लिस्टेड’ होने पर यह मार्केट वैल्यू के हिसाब से एलआईसी देश की सबसे बड़ी कंपनी हो सकती है. एसेट अंडर मैनेजमेंट के आधार पर इस समय भी एलआईसी देश की सबसे बड़ी कंपनी है.

10 लाख करोड़ हो सकती है मार्केट वैल्यू

गांधी ने कहा कि कंपनी मैनेजमेंट के तहत आने वाली एसेट्स के 25 से 30 फीसदी मूल्य पर भी एलआईसी का मूल्यांकन 8 से 10 लाख करोड़ रुपये रह सकता है. एलआईसी की 10 फीसदी हिस्सेदारी के बराबर के आईपीओ को भी बाजार के लिए संभालना मुश्किल होगा. सरकार इसका विनिवेश कई चरणों में कर सकती है.

करदाता, कारोबारी, किसान और युवा: बजट से क्या मिला? ‘न्यू इंडिया’ की राह पर कितना बढ़े कदम

एसोसिएशन ऑफ नेशनल एक्सचेंजेस मेंबर्स ऑफ इंडिया (एएनएमआई) के अध्यक्ष विजय भूषण ने कहा कि बजट की सबसे महत्वपूर्ण घोषणा एलआईसी का आईपीओ है. यह भारतीय शेयर बाजारों के लिए सऊदी अरामको को सूचीबद्ध कराने जैसा होगा. यह दशक का सबसे बड़ा आईपीओ होगा. बता दें, सऊदी अरामको को पिछले साल दिसंबर में सऊदी स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट कराया गया. कंपनी का वर्तमान मूल्य 117.82 अरब डॉलर है.

LIC के कामकाज में आएगी पारदर्शिता

एमके ग्लोबल फाइनैंशल सर्विसेस के प्रबंध निदेशक कृष्ण कुमार कारवा के अनुसार कंपनी के कामकाज (कॉरपोरेट गर्वनेंस) और पारदर्शिता के लिए एलआईसी का आईपीओ बेहतर होगा. साथ ही आने वाले सालों में यह सरकार के लिए धन जुटाने का अच्छा विकल्प बन जाएगा.

मेट्रोपॉलिटन स्टॉक एक्सचेंज के अंतरिम मुख्य कार्यकारी बालू नायर ने कहा कि निवेशकों को एलआईसी के आईपीओ का बेसब्री से इंतजार रहेगा. सैमको सिक्यॉरिटीज के मुख्य कार्यकारी जिमीत मोदी ने कहा कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी को भारतीय शेयर बाजारों में सूचीबद्ध कराने की सारी संभावनाओं को स्पष्ट कर दिया. इसकी एक बड़ी वजह 2020-21 के विनिवेश लक्ष्य को पाना है. इससे सरकार को अपने राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को भरने में मदद मिलेगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. सऊदी अरामको की तरह होगी LIC की लिस्टिंग! बाजार में तहलका मचा सका सकता है IPO

Go to Top