मुख्य समाचार:

दुनिया के अमीरों के मुकाबले कितना कम टैक्स चुकाते हैं भारतीय रईस? जानिए अमेरिका, चीन, जापान, फ्रांस का हाल

भारत में व्यक्तिगत आयकर की उच्चतम दरें अब भी अमेरिका, चीन और दक्षिण अफ्रीका सहित कई अन्य देशों के मुकाबले कम है.

July 8, 2019 4:32 PM
tax rate in indian super rich, super rich tax rate in US,super rich tax rate in japan, super rich tax rate in France, Budget 2019, India budget 2019, finance minister nirmala sitaramanभारत में व्यक्तिगत आयकर की उच्चतम दरें अब भी अमेरिका, चीन और दक्षिण अफ्रीका सहित कई अन्य देशों के मुकाबले कम है.

देश में अमीरों पर आयकर बढ़ाने के बजट में किए गए नए प्रावधानों को उचित ठहराते हुए वित्त मंत्रालय ने कहा कि भारत में व्यक्तिगत आयकर की उच्चतम दरें अब भी अमेरिका, चीन और दक्षिण अफ्रीका सहित कई अन्य देशों के मुकाबले कम है. रेवेन्यू सेक्रेटरी अजय भूषण पांडे ने कहा कि चीन और दक्षिण अफ्रीका में व्यक्तिगत आयकर की उच्चतम दर 45-45 फीसदी और अमेरिका में 50.3 फीसदी है.

बता दें, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को चालू वित्त वर्ष का बजट पेश करते हुए दो-पांच करोड़ रुपये की सालाना आय पर टैक्स सरचार्ज रेट 15 से बढ़ाकर 25 फीसदी और पांच करोड़ रुपये से अधिक की आमदनी वालों पर सरचार्ज 37 फीसदी कर दिया.

फ्रांस में अमीरों पर 66% टैक्स रेट

सरचार्ज में वृद्धि के बाद 2-5 करोड़ रुपये तक की आय पर टैक्स का कुल बोझ बढ़कर 35.88 से बढ़कर 39 फीसदी और पांच करोड़ रुपये से अधिक की आमदनी पर 35.88 से बढ़कर 42.7 फीसदी हो जाएगा. पांडे ने कहा कि सरचार्ज में वृद्धि से पहले भारत में अधिकतम टैक्स रेट 35.88 फीसदी था जबकि ब्रिटेन में यह 45 फीसदी, जापान में 45.9, कनाडा में 54 और फ्रांस में 66 फीसदी है.

ज्यादा कमाने वाले दें ज्यादा टैक्स

उन्होंने कहा, ”भारत में हम हमारा अधिकतम रेट 35 फीसदी थी इसलिए समानता और भुगतान क्षमता की दृष्टि से क्या 10 लाख रुपये और दस करोड़ रुपये की आमदनी वालों को बराबर रेट से टैक्स चुकाना चाहिए?” पांडे ने कहा, ”निश्चित रूप से 11-14 लाख रुपये की बीच की आमदनी वाले लोगों के पास कुछ तो बचत करने का मौका होना चाहिए इसलिए जो लोग ज्यादा कमा रहे हैं, उन्हें ज्यादा टैक्स देना ही चाहिए.”

वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में अमीरों पर आयकर सरचार्ज बढ़ाने का प्रस्ताव करते हुए कहा था कि टैक्स चुकाने वाले राष्ट्र निर्माण में बड़ी भूमिका निभा रहे हैं. उन्होंने कहा था कि लोगों की आमदनी का स्तर बढ़ रहा है, ऐसे में उच्चतम आय के दायरे में आने वाले लोगों को राष्ट्र के विकास में अधिक योगदान करने की जरूरत है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. दुनिया के अमीरों के मुकाबले कितना कम टैक्स चुकाते हैं भारतीय रईस? जानिए अमेरिका, चीन, जापान, फ्रांस का हाल

Go to Top