सर्वाधिक पढ़ी गईं

Economic Survey 2021: FY21 में GDP 42 साल में सबसे कम! लेकिन नजर आ रही ‘V’ शेप रिकवरी, सर्वे की खास बातें

Economic Survey 2021 Highlights: मौजूदा वित्‍त वर्ष में देश की आर्थिक विकास दर (GDP)  में 7.7 फीसदी गिरावट का अनुमान है.

Updated: Jan 29, 2021 3:15 PM
Economic Survey 2021Economic Survey 2021 Highlights: मौजूदा वित्‍त वर्ष में देश की आर्थिक विकास दर (GDP)  में 7.7 फीसदी गिरावट का अनुमान है.

Economic Survey 2021: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 लोकसभा में पेश कर दिया. आर्थिक सर्वेक्षण से पता चलता है कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था की सेहत क्‍या है. आगे किस तरह के ग्रोथ का अनुमान हैं. कह सकते हैं कि सर्वेक्षण में चालू वित्‍त वर्ष का भी पूरा लेखा जोखा होता है. सर्वे की बात करें तो मौजूदा वित्‍त वर्ष में देश की आर्थिक विकास दर (GDP)  में 7.7 फीसदी गिरावट का अनुमान है. वहीं, वित्त वर्ष 2021-22 के लिए GDP ग्रोथ 11 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया है. इससे पहले, संसद के बजट सत्र की शुरुआत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ हुई. जानते हैं इस सर्वे की कुछ खास बातें.

FY21 में GDP 4 दशक में सबसे कमजोर

आर्थिक सर्वेक्षण में चालू वित्त वर्ष 2020-21 के लिए जीडीपी ग्रोथ रेट -7.7 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया है. अगर ऐसा होता है तो यह पिछले 42 साल में सबसे खराब डाटा होगा. इसके पहले वित्‍त वर्ष 1980 में जीडीपी ग्रोथ में 5.2 फीसदी गिरावट रही थी, जो अबतक सबसे कमजोर रही है. बता दें कि कोविड19 की वजह से आर्थिक गतिविधियों में रुकावटों के चलते मौजूदा वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में जीडीपी ग्रोथ रेट -23.9 फीसदी रही थी. जुलाई-सितंबर तिमाही में जीडीपी ग्रोथ रेट -7.5 फीसदी रही.

Union Budget 2021: बजट से बजट तक इन शेयरों ने बना दिया अमीर, निवेशकों को मिला 750% तक रिटर्न

FY22 में बाउंसबैक करेगी इकोनॉमी

इकोनॉमिक सर्वेक्षण के मुताबिक वित्‍त वर्ष 2021-22 में देश की अर्थव्‍यवस्‍था तेजी से बाउंसबैक करेगी. अगले फिस्‍कल ईयर में देश की रियल GDP ग्रोथ रेट 11 फीसदी रहने की उम्मीद जताई गई है. इसमें कहा गया है कि इंडियन इकोनॉमी कोरोना वायरस के प्रभाव से निकलकर जबरदस्त बाउंस बैक करेगी.

अर्थव्‍यवस्‍था में ‘V’ शेप रिकवरी

इकोनॉमिक सर्वे में कहा गया है अगले वित्त वर्ष में देश की अर्थव्यवस्था में वी शेप रिकवरी दिख रही है. ग्रोथ में रिकवरी, मुख्य तौर पर कंजम्‍पशन मजबूत होने की वजह से होगी. अगले वित्त वर्ष में नॉमिनल GDP 15.4 फीसदी रहने की उम्मीद है. वहीं सर्वे वित्त वर्ष 2021-22 की पहली छमाही में Real GDP ग्रोथ रेट 14.2% रहने की उम्मीद जताई गई है.

करंट अकाउंट सरप्लस

सर्वे में कहा गया है कि भारत का करंट अकाउंट सरप्लस इस वित्त वर्ष में GDP का 2 फीसदी रह सकता है. बता दें कि IMF ने भी अनुमान लगाया था कि वित्‍त वर्ष 2021-22 में भारत की रियल जीडीपी ग्रोथ रेट 11.5 फीसदी रह सकती है.

अन्‍य बातें

इस बार 1 फरवरी को बजट के पहले 31 जनवरी को रविवार होने के कारण आर्थिक सर्वेक्षण 29 जनवरी को संसद में पेश किया गया है. इसमें कहा गया है कि कोरोनावायरस संक्रमण का सबसे बुरा असर मैन्युफैक्चरिंग और कंस्ट्रक्शन पर पड़ा है. कृषि क्षेत्र से सबसे ज्यादा उम्मीदें हैं. सरकार के खर्च बढ़ाने और एक्सपोर्ट से ग्रोथ की गिरावट थमी है. फिस्कल ईयर 2021 के लिए कंबाइंड फिस्कल डेफेसिट टारगेट से ज्यादा रहने का अनुमान.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. बजट 2021
  3. Economic Survey 2021: FY21 में GDP 42 साल में सबसे कम! लेकिन नजर आ रही ‘V’ शेप रिकवरी, सर्वे की खास बातें

Go to Top