मुख्य समाचार:

Mahindra Vs Tata motors, देश की नम्बर 3 पैसेंजर व्हीकल कंपनी बनने की लगी रेस!

Tata motors देश की तीसरी सबसे बड़ी पैसेंजर व्हीकल बनाने वाली कंपनी बनने की होड़ में Mahindra And Mahindra के और करीब पहुंच गई है. अप्रैल से अगस्त की अवधि में टाटा मोटर्स ने महिंद्र एंड महिंद्र से सिर्फ 1,313 पैसेंजर व्हीकल कम बेचे. 

September 16, 2018 3:32 PM
tata car prices, passenger vehicles, Mahindra, mahindra car prices, Tata Motors, mahindra and mahindra, financial express hindiTata motors देश की तीसरी सबसे बड़ी पैसेंजर व्हीकल बनाने वाली कंपनी बनने की होड़ में Mahindra And Mahindra के और करीब पहुंच गई है. अप्रैल से अगस्त की अवधि में टाटा मोटर्स ने महिंद्र एंड महिंद्र से सिर्फ 1,313 पैसेंजर व्हीकल कम बेचे. (Photo source- Tata Motors/Mahindra)

Tata motors देश की तीसरी सबसे बड़ी पैसेंजर व्हीकल बनाने वाली कंपनी बनने की होड़ में Mahindra And Mahindra के और करीब पहुंच गई है.

वाहन विनिर्माताओं के संगठन SIAM के ताजा आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल से अगस्त की अवधि में टाटा मोटर्स ने महिंद्र एंड महिंद्र से सिर्फ 1,313 पैसेंजर व्हीकल कम बेचे.

अप्रैल से अगस्त की अवधि में महिंद्र एंड महिंद्र ने कुल 1,00,015 पैसेंजर व्हीकल बेचे, वहीं टाटा मोटर्स ने कॉम्पैक्ट SUV Nexon और हैचबैक Tiago के बल पर 98,702 इकाइयों की बिक्री की. इस तरह ये दोनों कंपनियां मारुति सुजुकी इंडिया के बाद क्रमश: तीसरे और चौथे स्थान पर रहीं.

चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से अगस्त की अवधि में मारुति सुजुकी 7,57,289 इकाइयों के साथ पहले स्थान पर और Hyundai motors 2,26,396 इकाइयों के साथ दूसरे स्थान पर रही.

एक साल पहले समान अवधि में महिंद्र एंड महिंद्र की बिक्री 90,614 इकाई रही थी और वो टाटा मोटर्स से 26,483 इकाई आगे रही थी. लेकिन, इस बार ये गैप सिर्फ 1,313 इकाई का ही रह गया. उस समय टाटा मोटर्स 64,131 इकाइयों के आंकड़ों के साथ पांचवें स्थान पर थी.

 

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. ऑटो
  3. Mahindra Vs Tata motors, देश की नम्बर 3 पैसेंजर व्हीकल कंपनी बनने की लगी रेस!

Go to Top