मुख्य समाचार:

सेकंड हैंड कार खरीद रहे हैं? नोट कर लें ये 6 बातें

कुछ लोग कम बजट के चलते सेकंड हैंड कार लेते हैं तो कुछ नौसिखिया पहले पुरानी कार पर प्रैक्टिस करना बेहतर समझते हैं.

Published: June 7, 2020 8:51 AM
remember these points while buying second hand car, tips to consider in buying used carदेश में सेकंड हैंड या यूज्ड कारों का बाजार भी फल-फूल रहा है.

देश में सेकंड हैंड या यूज्ड कारों का बाजार भी फल-फूल रहा है. कुछ लोग कम बजट के चलते सेकंड हैंड कार लेते हैं तो कुछ नौसिखिया पहले पुरानी कार पर प्रैक्टिस करना बेहतर समझते हैं. मौजूदा कोविड19 दौर में सोशल ​डिस्टेंसिंग को देखते हुए लोगों के अपनी कार खरीदने के ट्रेंड में तेजी आने की उम्मीद की जा रही है. ऐसे में नई कारों के साथ-साथ यूज्ड कारों की बिक्री में भी इजाफा होने का अनुमान है. सेकंड हैंड कार लेने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है. कहीं ऐसा न हो कि पैसा भी जाए और आपका कार लेना भी सफल न हो.

तय करें एक बजट

कार खरीदने के लिए सबसे पहले तय करें कि आपका बजट कितना है यानी आप कितना पैसा खर्च कर सकते हैं. बजट तय होगा तो आप यह फैसला कर पाएंगे कि इतने पैसों में कौन सी कार खरीदी जा सकती है. यहां यह याद रखना जरूरी है कि सेकंड हैंड कार खरीदने के बाद उस पर कुछ और खर्चा भी करना पड़ सकता है.

मॉडल का चुनाव

कार खरीदने के लिए बजट तय होने के बाद यह फैसला करें कि आपको किस कंपनी की कौन सी कार खरीदनी है. साथ ही यह भी कि कौन सा वेरिएंट खरीदना है. सेकंड हैंड कार बाजार में सेडान, हैचबैक, एसयूवी, कॉम्पैक्ट एसयूवी सभी तरह की कार उपलब्ध है. जिस मॉडल को आप चुनें, उसके बारे में ज्‍यादा से ज्‍यादा जानकारी हासिल करें. केवल एक ही मॉडल पर निर्भर न रहें, एक अन्य मॉडल या कार का विकल्प साथ लेकर चलें.

10 लाख रु के अंदर आ जाएंगी ये 6 डीजल BS6 SUV; Mahindra, Tata, Hyundai और Ford के हैं मॉडल

सही डीलर का चुनाव

कार का सही मॉडल चुनने के बाद यह तय करना जरूरी है कि कार कहां से खरीदी जाए. बाजार में सेकंड हैंड कारें कई तरह से मिलती हैं. आप अपनी जान पहचान में किसी ओनर से सीधे कार की खरीद कर सकते हैं, नहीं तो इसके लिए डीलर्स भी होते हैं. कई कार कंपनियों का अपना यूज्ड कार प्लेटफॉर्म या शोरूम है, जैसे- Maruti Suzuki True Value, Hyundai H Promise. इसी तरह कार देखो, ओएलएक्स, क्विकर आदि जैसे अन्य प्लेटफॉर्म भी हैं. इसलिए सबसे पहले दो-तीन ​डीलरशिप पर अपनी चुने गए मॉडल को लेकर पूछताछ कर लें. कार के मॉडल, कीमत, और उसके बाद कार के डॉक्युमेंट के बारे में पूछताछ करें.

एक्सटीरियर-इंटीरियर, इंजन की जांच

यूज्ड कार खरीदने से पहले उसका एक्सटीरियर-इंटीरियर ठीक से देखें. देख लें कि कहीं कार का कोई एक्सीडेंट तो नहीं हुआ है. गाड़ी की जांच के मुख्य बिंदुओं को ध्यान में रखें. रंग, टायर, बैट्री, डेंट, स्क्रैच, सीट, गाड़ी कितना किलोमीटर चल चुकी है आदि का खास ख्याल रखें. इसके अलावा इंजन ठीक से काम करता है या नहीं, माइलेज अब कितना है आदि बातों पर भी गौर करें.

टेस्ट ड्राइव

सेकंड कार लेने से पहले टेस्ट ड्राइव लें. टेस्ट ड्राइव कम से कम 4 से 5 किलोमीटर की लें. देख लें कि कार के सारे फीचर्स जैसे, स्‍विच, बटन, ब्रेक, क्‍लच, गियर, एक्‍सीलरेटर ठीक से काम कर रहे हैं या नहीं.

TVS के बाइक-स्कूटर हुए महंगे, 2500 रु तक बढ़े दाम; ये हैं नई कीमतें

डॉक्युमेंट चेक करने के बाद मोल-भाव

टेस्‍ट ड्राइव के बाद गाड़ी के डॉक्युमेंट अच्छी तरह देखें. कार का सर्विस रिकॉर्ड, रजिस्ट्रेशन, इंश्योरेंस सब कुछ देख लें. कागजी कार्रवाई पूरी व पक्की होनी चाहिए. आरसी की ओरिजनल की ही मांग करें. सभी कागजात ठीक होने की तसल्ली होने के बाद मोल-भाव करें. हमेशा कम कीमत से शुरुआत करें और कोशिश करें जो आपका बजट है उससे कम कीमत से बात शुरू हो. खरीद-फरोख्‍त के लिए गारंटर अवश्‍य रखें और एग्रीमेंट पेपर जरूर बनवाएं. गाड़ी के बिल की ओरिजनल कॉपी भी अपने पास जरूर रखें. इसमें इंजन नंबर, चेसिस नंबर डिलीवरी की तारीख रहती है. दूसरी सेल का एग्रीमेंट भी उसी आधार पर बनवाएं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. ऑटो
  3. सेकंड हैंड कार खरीद रहे हैं? नोट कर लें ये 6 बातें

Go to Top