मुख्य समाचार:
  1. इलेक्ट्रिक व्हीकल सेगमेंट में भी कस्टमर्स को ‘बेस्ट वैल्यू पैकेज’ देगी मारुति सुजुकी! 2019 में BS VI इंडस्ट्री के लिए बड़ा चैलेंज

इलेक्ट्रिक व्हीकल सेगमेंट में भी कस्टमर्स को ‘बेस्ट वैल्यू पैकेज’ देगी मारुति सुजुकी! 2019 में BS VI इंडस्ट्री के लिए बड़ा चैलेंज

मारुति सुजुकी इंडिया अभी 50 इलेक्ट्रिक गाड़ियों की टेस्टिंग कर रही है.

January 25, 2019 1:48 PM
maruti suzuki india, MSI, maruti electric vehicles plan, maruti EV segment, maruti new launching, indian auto industry, BS 6, indian economy, मारुति सुजुकी इंडिया, मारुति की कारें, मारुति की इलेक्ट्रिक कारें, मारुति का इलेक्ट्रिक व्हीकल प्लाननई वैगनआर के लॉन्च मौके पर आरएस कल्सी (दाएं) ने बताया कि maruti suzuki अभी 50 इलेक्ट्रिक गाड़ियों की टेस्टिंग कर रही है. (Image: FE hindi Online)

Maruti Suzuki India Electric Vehicles : भारतीय ऑटो मार्केट में 2020 तक कई कंपनियां अपनी इलेक्ट्रिक कारें उतार देंगी. देश की सबसे बड़ी कार कंपनी भी इलेक्ट्रिक व्हीकल सेगमेंट में अपनी एंट्री को लेकर तैयार है. कंपनी फिलहाल 50 इलेक्ट्रिक गाड़ियों की टेस्टिंग कर रही है. भारत जैसे प्राइस सेंसेटिव मार्केट में इलेक्ट्रिक व्हीकल की कीमतें आम कस्टमर्स को अपने साथ जोड़ने में एक बड़ा रोल अदा करेंगी. मारुति सुजुकी का कहना है कि वह इलेक्ट्रिक व्हीकल सेगमेंट में भी कस्टमर्स को एक बेस्ट वैल्यू पैकेज उपलब्ध कराएगी.

मारुति सुजुकी के सीनियर एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर (मार्केटिंग एंड सेल्स) आरएस कल्सी ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी ऑनलाइन को बताया कि इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को लेकर अभी हमने 50 गाड़ियां टेस्टिंग पर डाली हुई है. काफी चीजें सरकार की पॉलिसी पर निर्भर करेंगी. इलेक्ट्रिक व्हीकल की मौजूदा कीमत अभी हमने वर्कआउट नहीं की है. लेकिन, मारुति का यह डीएनए रहा है कि हम जो भी करते हैं कस्टमर्स को ध्यान में रखकर करते हैं. हम कस्टमर्स को बेस्ट वैल्यू फॉर प्रोडक्ट, हाई क्वालिटी, हाई टेक्नोलॉजी सारी चीजें हम एक पैकेज में मुहैया कराते हैं.

भारत अभी भी प्राइस सेंसेटिव मार्केट, बेस लाइन बढ़ी

आरएस कल्सी का कहना है कि भारत प्राइस सेंसेटिव मार्केट है और यह तो हमेशा रहेगा. लेकिन कस्टमर्स एंट्री लेवल कार में भी अब सारे फीचर चाहते हैं, गाड़ी के अंदर सारे फंक्शन चाहते हैं, पावरफुल इंजन चाहते हैं, इसलिए एंट्री लेवल की बेस लाइन ऊपर शिफ्ट हो रही है. बेस लाइन ऊपर शिफ्ट होने का मतलब यह है कि अब कस्टमर्स अपनी स्माल कार पर ज्यादा खर्च करने को तैयार हैं. कल्सी का कहना है कि ईएमआई, आसान लोन मिलने से कस्टमर्स अब अपना कैलकुलेशन कर लेता है, उसके लिए आसानी हुई है.

ये भी पढ़ें…New WagonR 2019 Launch: वैगनआर नए अवतार में लॉन्च

2019 में BS VI एक बड़ा चैलेंज

आरएस कल्सी का कहना है कि आने वाले सालों में काफी चुनौतियां हैं. 2019 में BS VI एक बड़ा चैलेंज रहेगा, क्योंकि अप्रैल 2020 के बाद BS IV की गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन बंद हो जाएगी. इसलिए अभी हमारे सभी मॉडल के ऊपर काम चल रहा है. यह एक बड़ा चैलेंज रहेगा. दूसरी ओर, इलेक्ट्रिक व्हीकल लेकर हम काम कर रहे हैं, हाइब्रिड मॉडल पर भी हम काम कर रहे हैं.

अर्थव्यवस्था बढ़ेगी तो इंडस्ट्री बढ़ेगी

ऑटो सेक्टर की ग्रोथ के बारे में आरएस कल्सी का कहना है कि यह इंडस्ट्री देश की अर्थव्यवस्था पर निर्भर करती है. यदि देश की अर्थव्यवस्था अच्छा करती है तो आटो सेक्टर भी अच्छा करेगा.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop