मुख्य समाचार:

KSL क्लीनटेक चीनी साझेदार Huaihai के साथ लाएगी ई-व्हीकल्स, 7 मॉडल किए शोकेस

जिन व्हीकल्स को शोकेस किया गया, उनमें 4 टू-व्हीलर्स और 3 कमर्शियल व्हीकल्स शामिल हैं.

July 31, 2019 5:19 PM

 

KSL Cleantech partners with Chinese EV giant Huaihai: 7 electric vehicles for India showcased

रिन्युएबल एनर्जी और इलेक्ट्रिक व्हीकल्स बनाने वाली भारतीय कंपनी KSL क्लीनटेक ने 7 ई-व्हीकल्स शोकेस किए हैं. जिन व्हीकल्स को शोकेस किया गया, उनमें 4 टू-व्हीलर्स और 3 कमर्शियल व्हीकल्स शामिल हैं. इन व्हीकल्स को भारत में लॉन्च करने के लिए KSL ने चीन की दिग्गज मिनी इलेक्ट्रिक व्हीकल मैन्युफैक्चरिंग कंपनी हुआहाय (Huahai) होल्डिंग ग्रुप के साथ एक जॉइंट वेंचर की घोषणा की है.

हुआहाय-KSL की भारत में अगले 12-36 महीनों में ई-टूव्हीलर और थ्री-व्हीलर कैटेगरी में 10 मॉडल उतारने की योजना है. जॉइंट वेंचर के तहत 2020 में प्रॉडक्शन शुरू करने की योजना है और इसे चरणबद्ध तरीके से पूरा किया जाएगा.

200 करोड़ रुपये का होगा निवेश

इस जॉइंट वेंचर के तहत प्रॉडक्ट डिजाइन, डेवलपमेंट, मैन्युफैक्चरिंग, प्रॉडक्ट इनोवेशन, मार्केटिंग, सेल्स, फाइनेंस, आफ्टर सेल्स सर्विस और भारत में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के लिए महत्वपूर्ण कंपोनेंट्स की बिक्री आदि कवर होगा. हुआहाय-KSL निकट भविष्य में देश में सेल्स, मार्केटिंग नेटवर्क, सेलर डेवलपमेंट, चैनल सेल्स डेवलपमेंट, मार्केटिंग और ब्रांड क्रिएशन के साथ-साथ मैन्युफैक्चरिंग/असेंबलिंग यूनिट्स की स्थापना के लिए 200 करोड़ रुपये का निवेश करेगी.

अगली मैन्युफैक्चरिंग यूनिट नॉर्थ इंडिया में

इस वक्त KSL क्लीनटेक की असेंबलिंग यूनिट कोलकाता में मौजूद है, जिसकी क्षमता 10000 यूनिट्स/माह है. जॉइंट वेंचर के तहत अगले तीन वर्षों में 1 लाख यूनिट के प्रॉडक्शन का लक्ष्य रखा गया है. केएसएल ग्रुप के एमडी धीरज भागचंदका ने कहा कि अगली मैन्युफैक्चरिंग यूनिट नॉर्थ इंडिया में स्थापित करने की योजना है. उन्होंने यह भी कहा कि कंपनी आगे चलकर ई-व्हीकल्स के लिए चार्जिंग फैसिलिटी स्थापित करने पर भी काम करेगी.

डीलर और डिस्ट्रीब्यूटर्स भी होंगे नियुक्त

हुआहाय-KSL पूरे भारत में डीलर और डिस्ट्रीब्यूटर्स भी नियुक्त करेगी. इसके अलावा देश के विभिन्न स्थानों पर कंपनी के स्वामित्व वाले शोरूम भी खोले जाएंगे. इस जॉइंट वेंचर का अपना खुद का व्हीकल फ्लीट परिचालित करनी की भी योजना है, जो भारत की प्रमुख ई—कॉमर्स और लॉजिस्टिक कंपनियों को सर्विस दे सके.

ई-व्हीकल्स के लिए सरकार की कोशिशें निश्चित तौर पर फायदेमंद

भागचंदका ने आगे कहा कि ई-व्हीकल्स को सरकार की ओर से दिए जा रहे प्रोत्साहन से इस सेगमेंट को निश्चित रूप से बूस्ट मिलेगा. ई-व्हीकल्स पर GST घटाया जाना इंडस्ट्री के लिए फायदेमंद साबित होगा. इलेक्ट्रिक व्हीकल्स पर लगने वाले मौजूदा 12 फीसदी जीएसटी रेट को घटाकर 5 फीसदी कर दिया है. इसके अलावा जीएसटी काउंसिल ने इलेक्ट्रिक वाहनों के चार्जर पर लगने वाले मौजूदा 18 फीसदी जीएसटी रेट को कम करके उसे 5 फीसदी कर दिया है. आगे कहा कि इसके अलावा FAME-2 के तहत मिलने वाली सब्सिडी से अंत में फायदा कस्टमर्स को ही होगा क्योंकि राहत को कम कीमत के रूप में उन तक पहुंचाया जाएगा.

अभी इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स और थ्री-व्हीलर्स पर है फोकस

यह पूछे जाने पर कि क्या कंपनी की फोर व्हीलर्स यानी इलेक्ट्रिक कार सेगमेंट में आने की भी योजना है, भागचंदका ने कहा कि अभी केएसएल का फोकस इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स और थ्री-व्हीलर्स पर है. कंपनी की क्षमता और संभावना के आधार पर भविष्य में इलेक्ट्रिक कार सेगमेंट में उतरने के बारे में सोचा जाएगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. ऑटो
  3. KSL क्लीनटेक चीनी साझेदार Huaihai के साथ लाएगी ई-व्हीकल्स, 7 मॉडल किए शोकेस

Go to Top