सर्वाधिक पढ़ी गईं

FY22 में 12-14% की दर से बढ़ सकती है दोपहिया वाहनों की बिक्री, इक्रा को ग्रामीण अर्थव्यवस्था से सहारे की उम्मीद

रेटिंग एजेंसी इक्रा के मुताबिक दूसरी लहर के चलते ओवरआल कंजम्प्शन और इंवेस्टमेंट डिमांड के रिकवर होने में अभी कुछ समय लग सकता है. ऐसे में ग्रामीण अर्थव्यवस्था से कुछ सहारा मिलने की उम्मीद है.

July 1, 2021 2:52 PM
ICRA expects 12-14 percent growth for two-wheeler sales this fiscal

कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने गैर-मेट्रो शहरों और ग्रामीण इलाकों के लोगों को बुरी तरह प्रभावित गया और इसके चलते ग्राणीण इलाकों के उपभोक्ताओं के सेटिमेंट्स भी बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. हालांकि इसके बावजूद रेटिंग एजेंसी ICRA ने चालू वित्त वर्ष 2021-22 के लिए दोपहिया वाहनों की बिक्री के 12-14 फीसदी की दर से बढ़ने के अनुमान को बनाए रखा है. इक्रा के मुताबिक लो बेस, हेल्दी रूरल कैश फ्लो और व्यक्तिगत वाहन को प्रमुखता देने की वजह से दोपहिया वाहनों की मांग को त्यौहारी सत्र में सहारा मिलेगा. इक्रा के मुताबिक दूसरी लहर के चलते ओवरआल कंजम्प्शन और इंवेस्टमेंट डिमांड के रिकवर होने में अभी कुछ समय लग सकता है. ऐसे में ग्रामीण अर्थव्यवस्था से कुछ सहारा मिलने की उम्मीद है.

ICRA Report: हॉस्पिटैलिटी सेक्टर की 74% कंपनियों की क्रेडिट रेटिंग निगेटिव, कोरोना की दूसरी लहर ने रिकवरी पर लगाया ब्रेक

गांवों में मांग सुधरने की उम्मीद: इक्रा

रबी की अच्छी फसल, मानसून के समय पर पहुंचने, खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) और सरकार द्वारा चलाई जा रही आय समर्थित योजनाओं से गांवों में मांग सुधरने में मदद मिलने की उम्मीद है. इससे इस त्योहारी सत्र में दोपहिया वाहनों की बिक्री को सहारा मिलने की उम्मीद है. रेटिंग एजेंसी ने कहा कि महामारी के चलते अपने व्यक्तिगत साधन से कहीं आने-जाने को प्रिफर किया जा रहा है जिससे मांग बढ़ेगी.
इक्रा के वाइस प्रेसिडेंट और सेक्टर हेड (कॉरपोरेट रेटिंग्स) रोहन कंवर गुप्ता के मुताबिक इस साल विभिन्न राज्यों में अप्रैल से जून के बीच लगाया गया लॉकडाउन पिछले साल 2020 में देश भर में लगाए गए लॉकडाउन के लगभग बराबर ही रहा. सेंटिंमेंट्स सही नहीं होने के चलते इस साल अप्रैल और मई में मिनी फेस्टिव और वेडिंग सीजन में दोपहिया वाहनों की खुदरा बिक्री में बड़ी गिरावट रही.

LPG Price Hike: 25 रुपये और महंगी हुई रसोई गैस, 7 साल में दोगुने हुए दाम, अब सिलिंडर के लिए चुकाने होंगे इतने पैसे

तीसरी लहर की आशंका के बावजूद ‘स्टेबल’ आउटलुक

कोरोना महामारी को लेकर अभी भी अनिश्चितता बनी हुई है और तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है. इसके बावजूद इक्रा ने दोपहिया इंडस्ट्री के लिए स्टेबल आउटलुक मेंटेन रखा है. हालांकि गुप्ता के मुताबिक वैक्सीनेशन ड्राइव की गति धीमी होने और कोरोना के चलते डिमांड में रुकावट आने, असमान मानसून या निर्यात में अनिश्चित उतार-चढ़ाव के चलते दोपहिया इंडस्ट्री को लेकर अनुमान में रिस्क बना हुआ है. रेटिंग एजेंसी के मुताबिक डोमेस्टिक डिमांड रिकवरी अनिश्चित बनी रहती है तो भी दोपहिया निर्यात में लगातार बढ़ोतरी प्रोत्साहित करने वाली है और इससे वित्त वर्ष 2022 में इंडस्ट्री वॉल्यूम को सहारा मिलने की उम्मीद है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. ऑटो
  3. FY22 में 12-14% की दर से बढ़ सकती है दोपहिया वाहनों की बिक्री, इक्रा को ग्रामीण अर्थव्यवस्था से सहारे की उम्मीद
Tags:ICRA

Go to Top