मुख्य समाचार:

ऑटो इंडस्ट्री में रिवाइवल के संकेत! मारुति सुजुकी का प्रोडक्शन अगस्त में 11% बढ़ा, मिनी कार, SUV सेगमेंट में डिमांड तेज

MSI का प्रोडक्शन सबसे अधिक मिनी कार और यूटिलिटी व्हीकल्स सेगमेंट में बढ़ा है. मिनी कार सेगमेंट में अल्टो और एसप्रेसो जबकि यूटिलिटी व्हीकल्स सेगमेंट में एसक्रास और विटारा ब्रिजा प्रमुख मॉडल हैं.

Updated: Sep 07, 2020 5:44 PM
Maruti Suzuki India production in August 2020मारुति सुजुकी का कहना है कि अगस्त में मिनी कारों का प्रोडक्शन सालाना आधार पर 61% बढ़ा है.

ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में रिवाइवल के संकेत मिल रहे हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि देश की सबसे बड़ी कार निर्माता मारुति सुजुकी का प्रोडक्शन बढ़ा है. अगस्त में कंपनी का कुल प्रोडक्शन 11 फीसदी बढ़कर 1,23,769 हो गया. कंपनी ने पिछले साल इसी महीने में 1,11,370 कारें बनाई थीं. कंपनी का प्रोडक्शन सबसे अधिक मिनी कार और यूटिलिटी व्हीकल्स सेगमेंट में बढ़ा है. मिनी कार सेगमेंट में कंपनी की अल्टो और एसप्रेसो आती हैं. जबकि यूटिलिटी व्हीकल्स सेगमेंट में एसक्रास और विटारा ब्रिजा प्रमुख मॉडल हैं.

कंपनी की ओर से जारी बयान के अनुसार, अगस्त में पैसेंजर कारों का प्रोडक्शन 1,21,381 यूनिट था. जबकि अगस्त 2019 में यह आंकड़ा 1,10,214 दर्ज किया गया था. इस तरह पैसेंजर व्हीकल सेगमेंट में मारुति का प्रोडक्शन 10 फीसदी बढ़ा है.

Alto और S-Presso की डिमांड बढ़ी

मारुति सुजुकी का कहना है कि अगस्त में छोटी कारों अल्टो और एसप्रेसो मॉडल का प्रोडक्शन 22,208 दर्ज किया गया. एक साल पहले इसी महीने यह 13,814 था. इस तरह, मिनी कार सेगमेंट में कंपनी का प्रोडक्शन 61 फीसदी बढ़ा है.

कॉम्पैक्ट कार सेगमेंट की बात करें, जिनमें वैगनआर, इग्निश, स्विफ्ट, बलेनो, डिजायर शामिल हैं, का प्रोडक्शन पिछले महीने मामूली बढ़ा. अगस्त 2020 में इन कारों का कुल उत्पादन 67,348 रहा, जबकि अगस्त 2019 में यह आंकड़ा 67,095 था.

Kia Sonet से लेकर Mercedes-Benz EQC तक, सितंबर में लॉन्च होने वाली हैं ये 4 दमदार कारें

यूटिलिटी व्हीकल्स की बिक्री 44% बढ़ी

कंपनी के बयान के अनुसार, मारुति की यूटिलिटी व्हीकल्स, जिप्सी, एसक्रास, विटारा ब्रिजा और XL6 का पिछले महीने प्रोडक्शन 44 फीसदी बढ़कर 21,737 हो गया. पिछले साल अगस्त में इन कारों का कुल उत्पादन 15,099 था. मारुति सुजुकी के अनुसार, लाइट कमर्शियल व्हीकल्स सुपरकैपी की बिक्री सालाना आधार पर 1156 से बढ़कर 2388 हो गई है.

GST दरों में हो सकती है कटौती

कोरोना महामारी के चलते लागू लॉकडाउन से भारी दबाव और सुस्ती झेल रही भारतीय ऑटो इंडस्ट्री (Indian Auto Industry) को केंद्र सरकार बड़ी राहत दे सकती है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ​हाल ही में ऑटो इंडस्ट्री के संगठन सियाम (SIAM) के एक कार्यक्रम में यह संकेत दिए. वाहनों पर अभी 28 फीसदी जीएसटी है. ऑटो इंडस्ट्री ने इसे घटाकर 18 फीसदी करने की मांग की थी. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी हाल में दुपहिया वाहनों पर जीएसटी रेट में कटौती करने का संकेत दिया था.

ऑटो इंडस्ट्री को मिलेगी बड़ी राहत! सरकार GST दरों में कर सकती है कटौती

भारी उद्योग मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा था कि सरकार सभी तरह के वाहनों पर जीएसटी रेट में 10 फीसदी कटौती करने की ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री की मांग पर विचार कर रही है और इस बारे में कुछ दिनों में फैसला हो जाएगा. SIAM के 60वें सालाना सम्मेलन में जावड़ेकर ने भरोसा दिया कि जीएसटी में अस्थायी कटौती की इंडस्ट्री की मांग के बारे में प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री से बात करेंगे. उन्होंने कहा, ‘वित्त मंत्रालय इस प्रस्ताव की विस्तृत रूपरेखा तैयार कर रहा है। दुपहिया, तिपहिया, पब्लिक ट्रांसपोर्ट और चौपहिया वाहनों पर चरणबद्ध तरीके से राहत मिलनी चाहिए. उम्मीद है कि आपको जल्दी ही खुशखबरी मिलेगी.’

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. ऑटो
  3. ऑटो इंडस्ट्री में रिवाइवल के संकेत! मारुति सुजुकी का प्रोडक्शन अगस्त में 11% बढ़ा, मिनी कार, SUV सेगमेंट में डिमांड तेज

Go to Top