मुख्य समाचार:

हुंडई पर कोरोना वायरस का कहर, बंद हुआ दुनिया का सबसे बड़ा कार कारखाना

चीन में कारोना वायरस के संक्रमण ने दुनियाभर के बाजारों और अर्थव्यवस्था पर असर डालना शुरू कर दिया है.

February 7, 2020 4:12 PM
coronavirus, china, hyundai, biggest car factory, hyundai plant shutdown as coronavirus impact, SEOUL, कोरोना वायरस, हुंडई, चीन में कारोना वायरस, car making company, south koreaचीन में कारोना वायरस के संक्रमण ने दुनियाभर के बाजारों और अर्थव्यवस्था पर असर डालना शुरू कर दिया है.

Coronavirus Impact On Hyundai Motors: चीन में कारोना वायरस के संक्रमण ने दुनियाभर के बाजारों और अर्थव्यवस्था पर असर डालना शुरू कर दिया है. इससे इंडस्ट्री भी अछूती नहीं रह गई है. दुनिया में सर्वाधिक उत्पादन क्षमता वाला कार कारखाना शुक्रवार को अस्थायी तौर पर बंद हो गया. दक्षिण कोरिया की वाहन कंपनी हुंडई ने अपने विशाल उलसान संयंत्र का परिचालन रोक दिया है. असल में चीन में कोरोनावायरस के संक्रमण से औद्योगिक उत्पादन पर असर पड़ने के कारण वाहनों के कल-पुर्जों की कमी होने लगी है. इस संयंत्र की क्षमता सालाना 14 लाख वाहन बनाने की है.

50 करोड़ डॉलर का नुकसान

विश्लेषकों के अनुसार, हुंडई पर इसका गंभीर असर होने वाला है. कंपनी को 5 दिन संयंत्र बंद रखने से अनुमानित तौर पर कम-से-कम 600 अरब वॉन यानी 50 करोड़ डॉलर का नुकसान होगा. यह संयंत्र समुद्री तट पर स्थित है. इससे यह आसानी से कल-पुर्जों का आयात और तैयार वाहनों का निर्यात कर पाता है. चीन ने कोरोनावायरस के संक्रमण को और फैलने से रोकने के लिये कारखानों को बंद करने का आदेश दिया है. इसके कारण चीन में निर्मित कल-पुर्जों पर निर्भर उद्योगों के लिये परिचालन जारी रख पाना मुश्किल होने लगा है. हुंडई के पास वाहन संयंत्र के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को आपस में जोड़ने वाले सामानों की कमी हो गयी है. इसी वजह से दक्षिण कोरिया में हुंडई समेत अन्य कंपनियों ने परिचालन फिलहाल रोक दिया है.

25 हजार कामगारों को छुट्टी पर भेजा

सिर्फ दक्षिण कोरिया में ही इस कारण करीब 25 हजार कामगारों को जबरन छुट्टी पर भेज दिया गया है. उलसान संयंत्र में काम करने वाले पार्क ने कहा कि यह शर्मिंदगी की बात है कि मैं काम पर नहीं आ सकता और वेतन में कटौती भी स्वीकार करनी होगी. यह बेहद असहज करने वाली बात है. विश्लेषकों का मानना है कि यह कोरोनावायरस के कारण चीन से बाहर कारखानों के बंद होने का पहला उदाहरण है.

किआ मोटर्स ने भी 3 संयंत्रों को बंद

हुंडई की अनुषंगी किआ मोटर्स ने सोमवार को 3 संयंत्रों को बंद रखने का निर्णय लिया है. इसके अलावा रेनॉ की दक्षिण कोरियाई अनुषंगी बुसान संयंत्र को अगले सप्ताह बंद रखने जा रही है. फिएट क्राइशलर ने भी कहा है कि उसे अपने एक यूरोपीय कारखाने का परिचालन फिलहाल बंद करने पर बाध्य होना पड़ सकता है. दक्षिण कोरिया की इन्हा यूनिर्विसटी में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर चिओंग इन-क्यो ने कहा कि सबसे बड़ी समस्या यह है कि चीन में इस संक्रमण को कैसे काबू किया जाएगा, हमें नहीं पता. दक्षिण कोरिया की कंपनियां कल-पुर्जों के लिये चीन पर वृहद स्तर पर निर्भर हैं. समस्या है कि यदि एक भी पुर्जे की कमी हुई तो आप परिचालन जारी नहीं रख सकते हैं.

दुनियाभर में हो सकता है असर

उन्होंने सचेत किया कि यह महज शुरुआत है. यह संकट वाहन क्षेत्र के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी फैलेगा. मूडीज एनालिटिक्स के मुख्य अर्थशास्त्री मार्क जांडी ने कहा कि चीन वैश्विक विनिर्माण आपूर्ति श्रृंखला का अभिन्न हिस्सा बन चुका है और उसकी वैश्विक विनिर्माण में करीब 20 फीसदी की हिस्सेदारी है. चीन में कारखाने बंद होने से सबसे पहले उसके पड़ोसी देश ताईवान और वियतनाम तथा उसके बाद मलेशिया और दक्षिण कोरिया प्रभावित होंगे. आपूर्ति श्रृंखला की कड़ियां लंबी होने के कारण अमेरिका व विश्व के अन्य हिस्सों में इसका असर दिखने में कुछ समय लग सकता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. ऑटो
  3. हुंडई पर कोरोना वायरस का कहर, बंद हुआ दुनिया का सबसे बड़ा कार कारखाना

Go to Top