मुख्य समाचार:

कार या बाइक खरीदना हुआ सस्ता, IRDAI ने इंश्योरेंस पॉलिसी पर लिया बड़ा फैसला

अब कार या बाइक खरीदना कुछ सस्ता हो जाएगा. इंश्योरेंस रेगुलेटर इरडा ने मोटर व्हीकल इंश्योरेंस को लेकर बड़ा कदम उठाया है.

Published: June 10, 2020 12:47 PM
IRDAI, motor insurance, IRDAI withdrawal of long term package cover, motor third party insurance, own damage insurance, buying car is now cheaper, two wheeler, vehicle sales; Lock Downअब कार या बाइक खरीदना कुछ सस्ता हो जाएगा. इंश्योरेंस रेगुलेटर इरडा ने मोटर व्हीकल इंश्योरेंस को लेकर बड़ा कदम उठाया है.

अब आपके लिए कार या बाइक खरीदना कुछ सस्ता हो जाएगा. असल में इंश्योरेंस रेगुलेटर इरडा ने मोटर व्हीकल इंश्योरेंस को लेकर बड़ा कदम उठाया है. इरडा ने लॉन्ग टर्म पैकेज्‍ड थर्ड पार्टी और ओन-डैमेज पॉलिसी के नियम को वापस ले लिया है. इसमें कार के लिए 3 साल का और टू व्हीलर्स के लिए 5 साल का थर्ड पार्टी कवर लेना जरूरी कर दिया गया था. इससे कार या बाइक खरीदते समय उसकी कीमत बढ़ जहाती थी. फिलहाल इरडा ने यह कदम ऐसे समय उठाया है, जब लॉकडाउन के चलते लोगों की इनकम घटी है. इससे कार या बाइक की बिक्री के साथ ही इंश्योरेंस की बिक्री भी कम हुई है.

इरडा ने अपनी वेबसाइट पर इसकी जानकारी दी है. लॉन्ग टर्म पैकेज्‍ड प्रोडक्ट को हटाने का फैसला जल्द अमल में आएगा. बता दें कि इरडा ने बीमाकर्ताओं के लिए अगस्त 2018 से कारों के लिए 3 साल की मोटर पॉलिसी और सितंबर 2018 से टू व्हीलर्स के लिए 5 साल की मोटर पॉलिसी अनिवार्य कर दिया था. 2018 में जब पॉलिसी की शुरुआत हुई थी तब 1.80 करोड़ में से केवल 60 लाख वाहन इंश्‍योरेंस से कवर थे.

समीक्षा के बाद लिया फैसला

मंगलवार को इरडा ने मौजूदा लॉन्‍ग टर्म पैकेज कवर की समीक्षा की. इसके बाद उसने एक अगस्त 2020 से नई कारों के लिए 3 साल और टू-व्‍हीलर के लिए 5 साल के थर्ड पार्टी और ओन डैमेज कवर लेने के फैसले को वापस लिया. यानी अब बीमा कंपनियां 3 या 5 साल के थर्ड पार्टी कवर के साथ साथ सिर्फ 1 साल के ओन डैमेज कवर की बिक्री कर सकती हैं. इसके बजाय पहले एक लॉन्‍ग टर्म पैकेज कवर लेने की जरूरत पड़ती थी.

थर्ड पार्टी इंश्‍योरेंस क्‍या है?

मोटर व्हीकल्स एक्ट के तहत सभी मोटर वाहनों के लिए थर्ड पार्टी मोटर इंश्योरेंस या थर्ड पार्टी बीमा कवर लेना जरूरी है. अगर आपके वाहन से किसी दूसरे को या उसकी प्रॉपर्टी को नुकसान होता है तो यह बीमा पॉलिसी इस नुकसान को कवर करती है. इसमें बीमा कराने वाला पहली पार्टी होता है. बीमा कंपनी दूसरी पार्टी, जबकि जिसे नुकसान पहुंचता है वह तीसरी पार्टी होता है. तीसरी पार्टी ही नुकसान के लिए दावा करती है. वहीं ओन डैमेज (ओडी) पॉलिसी में थर्ड पार्टी पॉलिसी के सभी कवर के अलावा बीमित वाहन को नुकसान से भी कवर मिलता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. ऑटो
  3. कार या बाइक खरीदना हुआ सस्ता, IRDAI ने इंश्योरेंस पॉलिसी पर लिया बड़ा फैसला
Tags:IRDA

Go to Top