1. Telecom Minister Manoj Sinha: Now all complaints related to India Post to be addressed within 24 hours

Telecom Minister Manoj Sinha: Now all complaints related to India Post to be addressed within 24 hours

Union Telecom Minister Manoj Sinha has inaugurated India Post Help Centre and a Toll-Free Number 1924 to address people's grievances related to the postal department.

By: | New Delhi | Updated: September 13, 2016 12:00 PM
Manoj Sinha, Telecom minister Manoj Sinha, India post helpline, India post help centre, postal helpline, postal help centre, India post customer care Union Telecom Minister Manoj Sinha at the India Post headquarters to launch the postal department’s helpline and service centre. (Source: Twitter)

Union Telecom Minister Manoj Sinha on Monday inaugurated India Post Help Centre and a Toll-Free Number 1924 to address people’s grievances related to the postal department. On the occasion, Sinha said the move comes in the wake of Prime Minister Narendra Modi’s PRAGATI (Pro-Active Governance And Timely Implementation) review meetings, where he exhorts the Union ministers to actively address the grievances of the common man by setting up and strengthening public redressal grievances mechanism.

The Help Centre will provide services in three languages -Hindi, English and Malayalam. Other regional languages would be added gradually. Sinha said the Help Centre will be open from 8 am to 8 pm on all working days except holidays. He also said that soon, a nodal officer will be appointed in every circle to bring efficiency in the redressal mechanism. The minister said that except in the case of policy decisions, all complaints related to postal services will be addressed within 24 Hours.

The minister said that except in the case of policy decisions, all complaints related to postal services will be addressed within 24 Hours. Last month Sinha had launched “Twitter Sewa” for addressing the complaints and concerns of common man and other stakeholders in the telecom and postal sectors. About 100 complaints related to the postal services are received daily.

The toll-free helpline number ‘1924’ would be available for customers from all over India from landline/mobile phone of service providers namely AirTel, Idea, Vodaphone, Telenor, Aircel, MTS, Reliance etc.

(With PIB inputs)

  1. S
    sheela
    Jun 18, 2017 at 8:40 pm
    I sheela Khullar Have a good experience Of Post Departement All This is Fake No solution I got From Last 10 Months From Post Departement Of Jabalpur
    Reply
    1. S
      sheela
      Jun 3, 2017 at 4:07 pm
      India Post — Post Departement Of India is No 1 Fraud Departement Of India Pls Do Not Invest in Post office Scheme Of India My Name is Sheela Khullar From Jabalpur I Have one Monthly Scheme Acct Mis 38102 In Which Post Departement Employee Post Master Indira Shrivas Has Done The Fraud The Story is This I Have Open One Mis Acct 38102 in 2006 On Tht I am Taking Monthly Interest Of Rs 300/- In 2010 I Gone For Full Withdrawal on 5.10.2010 in Howbagh Post Office on Tht Time Post Master is Indira shrivas She Said To me Sign Here in Withdrawal Form You will Get Money tomorrow Second Day When I Gone She Said Already I Have Given You the Money But she Has Not Given And Saying I Have Given Rs 52050/- to you Cash Second Day I Have given a Complain To Senior supridendent Of Post Office Plus Sp Plus Collector But No Solution I Got Dept Of Post Given Reply To All Adminstration tht Post Master Indira Shrivas HAs Given A Cash Payment Of Rs 52050/-Thn On July 2016 My Son Came From Hyderabad He Again Gi
      Reply
      1. S
        sheela
        Jan 27, 2017 at 3:52 pm
        I sheela Khullar Have a good experience Of Post Departement All This is Fake No solution I got From Last Six Months From Post Departement Of Jabalpur
        Reply
        1. S
          sheela
          Feb 18, 2017 at 4:45 am
          Telecom Minister Manoj Sinha: Now all complaints related to India Post to be addressed within 24 hoursThis Means It Will take 240 Days For Solution Of Any Complaint Of Post Departement Of Jabalpur Until a Complainant Got Mental
          Reply
          1. S
            sheela
            Feb 18, 2017 at 4:41 am
            विषय :डाक विभाग जबलपुर में कार्यात कु इंदिरा श्रीवास ने की धोकाधड़ीमहोदय ,निवेदन है की मेरा नाम शीला खुल्लर है मैंने डाक विभाग जबलपुर में २००६ में MIS खाते NO-38102/-में ४५०००/- रूपए जमा करे थे जिसका भुगतान में ५.१०.२०१० को लेना गयी तो कु इंदिरा श्रीवास ने मुझ से विथड्रावल फॉर्म पर हस्ताक्षर करवा नये और कहा माताजी कल आके पैसे ले जाना जब में दूसरे दिन पैसे लेने गयी तो उसने साफ़ कह दिया पैसे तो मैंने दे दिया तुमको मैंने उस को कई बार कहा पर उसने मुझे कहा अब तुमरे खाते में पैसे नहीं है और मैंने टीमको 52050 /- रुपये दे दिए है फिर मैंने मुख्या डाक घर को भी इसकी कंप्लेन करी और SP कार्यालीय में भी करि पर कोई हल नहीं मिला ,मुख्या डाक विभाग की तरफ से जवाब आगया की आपको को ५.१०.२०१० को नगद भुगतान कर दिया है अब आपके खाते में कोई पैसा नहीं हैमेरा बेटा हैदराबाद में नौकरी करता है दिनांक 15 जून २०१६ को जबलपुर आया मैंने अपने बेटे को पूरी कहानी सुनाई तो मेरे बेटा ने जुलाई २०१६ को इसका आवेदन दिया की खाता नो MIS ३८१०२ की जाच करि जाये जिसकी जाच ३१ जुलाई २०१६ को हो गयी फिर मेरे बेटा ने प्रवर डाक अधीक्षक को कहा जब नियम ही नहीं था २००००/- के ऊपर देने का तो कु इंदिरा श्रीवास ने कैसे दे दिया ,फिर उन्होंने कहा की नियम के विरुद्ध कार्य करने पर हम कु इंदिरा श्रीवास को १६ NO की चार्जशीट प्रधान कर रहे है Chargesheet has been issued against Ku. Shrivas vide SSPOs Jabalpur Division Memo No. F/Vividh/16/Kudira Shrivas dated 21/9/२०१६ फिर मैंने प्रवर डाक अधीक्षक को कहा की आपने तो इसको आरोप पत्र आदेश कर दिया पर मेरे पैसा का क्या होगा तो उन्होंने कहा अब हम कुछ नहीं कर सकते (जो सजा २०१० में मिलनी थी वो सजा २१.९.२०१६ को मिली )इससे समाज जाई की भरष्ट है डाक विभाग जबलपुर यह सजा मेरे बेटे के कारन उसको मिली है मेरे को तो इस डाक विभाग ने कुछ समजा ही नहीं था बुढ़िया है थक जाएगी की चक्कर लगा लगा के .फिर मैंने एक RTI के तहत यह जानकारी मांगी की आज तक कु इंदिरा श्रीवास को विभाग की तरफ से कितनी बार चार्जशीट मिली है तो उसमे जवाब आया की 5 बार कु इंदिरा श्रीवास को विभाग की तरफ से चार्ज शीट मिली है इससे साफ़ ज्ञात होता है की इसने एक बार ऐसा काम नहीं किया है यह एक NO 1 फ्रॉड औरत है फिर भी डाक विभाग जबलपुर इसकी छुपा रहा है फिर मैंने अपनी कंप्लेन को असंतुस्ट होकर डायरेक्टरेट ऑफ़ ग्रिवीएंस NEWDELHI को लिखा की मैंने इनकी जाच से संतुष्ट नहीं हूँ फिर जाच शुरू हुई देखिये सर पहले जब जाच हुई तो दो गवाह थे इस बार जाच शरू हुई तो तीन गवाह हो गए तीसरा गवाह इसलिए छुपाया गया क्योकि उसने साफ़ कह दिया की मेरे सामने कोई भुगतान शीला खुल्लर को नहीं हुआ जबकि दो गांव जो कु इंदिरा श्रीवास के थेदोनों क्रिमिनल रिकॉर्ड के थे एक तो कु इंदिरा श्रीवास का दोस्त था देलन यादव जो की १३ साल की सजह जेल में काटकर आ चूका है जोके सरकारी कर्मचारी है उसकी गवाई नहीं मानी जा रही जो दो क्रिमिनल रिकॉर्ड के है इनकी गवाई मानी जा रहीकु इंदिरा श्रीवास ने अपने बयान में कहा मैंने शीला खुल्लर को नगद भुगतान इसलिए दिया उनकी बीमारी की हालात को देखकर जबकि यह सब झूट है जबकि मेरे बेटे ने कु इनिदरा श्रीवास के नगद भुगतान के 100-500 खाते पकड़ लिए है क्या अब डाक विभाग जबलपुर कु इंदिरा श्रीवास को 500 चार्ज शीट देगा नगद भुगतान इसलिए करती थी इंदिरा श्रीवास विभाग से कुछ और पैसे लेती थी और खातेदारक को कुछ और अगर चेक से करेगी भुगतान तो पूरा खातेदारक ही को जायेगामेरा आपसे निवेदन है की कु इंदिरा श्रीवास की जाच करि जाये क्यों की इसने ऐसे घोटाले वाले काम १००-५०० लोगो के साथ किये हैमैंने ये अपना केस जुलाई माह २०१६ से लगाया है पर मुझे कोई इन्साफ नहीं मिला है अभी नवम्बर माह २०१६ से PMG इंदौर ने दोबारा जाच के लिए टीम को निर्देश दिए है पर आज तक उस टीम का पता ही नहीं चल रहा जबकि मेरे केस की जाच में सिर्फ २४ घंटे ही लगेंगे पर मुझे समझ नहीं आता PMG इंदौर इसमें इतनी देरी क्यों लगा रहे है जबकि साफ़ समझ में आता है की जिसको पाँच बार विभाग की तरफ से आरोप लग चूका है जिसमे की फ्रॉड का आरोप डॉ कौशल पाठक के टाइम का भी लगा है इसके बाद ५०० खातों में नियम के विरुद्ध कार्य करने पर भी PMG इंदौर अभी भी उसको सजा देने में इतनी देरी क्यों कर रहे है ४ महीने हो गए PMG इंदौर के पास केस गए हुए को पर नतीजा अभी तक जीरो है इंतज़ार किया जा रहा है की आवेदिका थक जाये और फिर इंदिरा श्रीवास ऐसे आरोप करती रहे पर में थकने वाली में से नहीं हूँ अब मुझे अपने पैसे का लालच नहीं है पर ऐसी भरस्ट इंदिरा श्रीवास को सजा दिलवाकर ही रहूँगी
            Reply
            1. Load More Comments

            Go to Top